future

dream

डगर में वन है
 नारायणी तुम ही नारी हो
रुको मत,छोड़ो मत
शहर से दूर, जाना जरुर
आज रहने दो, आज ही जीनो दो
असफलता ने दी मुक़ाम
ज़िंदगी की डगर