कृषि

कृषि पर आधारित जानकारी,तथा किसान के उद्देश्य का महत्व 

कृषि पर आधारित भारत की संपूर्ण अर्थव्यवस्था चलता है जिसके कारण भारत की अर्थव्यवस्था में किसी प्रकार कोई गिरावट नही होता है अंतरराष्ट्रीय अन्तर्गत पर सही अर्थव्यवस्था को पेश किया जाता है,किसी प्रकार से भारत की अर्थव्यवस्था में गिरावट नही होती है ,भारत भी अनाज की पैदावार में प्रगति की ओर बढ़ रहा है जिसके कारण भारत के सभी जनों को अनाज का लाभ होता है ,दैनिक कार्य में भोजन के रूप प्रवेश करते है तथा ग्रहण करते ओर जीवन की प्रक्रिया ऐसा ही चलता-रहता हैहै

किसान की अभिलाषा होता है जिसके कारण अपना संपूर्ण जीवन कृषि में लगा देता है

एक तरह से मान लिया जाये की किसान ही भारत की अर्थव्यवस्था को सहयोग देते है क्योंकि किसान के अलावा कोई भी फसल को तैयार तथा कृषि नही करता है ,किसान ही ऐसा व्यक्ति जो कठिन मेहनत से अपना कर्तव्य को पूरा करता है किसी प्रकार का कोई उलझन नही करता है अगर किसान फसल के समय कम मेहनत करता है तो फसल खराब हो सकता है इसलिए किसान अपने शरीर को कष्ट करके फसल को हरियाली से लहरा देता तथा मन की खुशी भी मिलता है

कृषि जहान का अंग है, कृषि बिना किसी के अनाज पैदावार नही हो सका है ,जीवन जीने के लिए भोजन की आवश्यकता पड़ता है जिसके कारण जीवन की शैली चलता है


मनुष्यों के जीवन जीने के लिए अनाज का पैदावार महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि अनाज से ही शरीर को उर्जा प्रदान करता है जीने की प्रक्रिया सिकता है,गाँव के क्षेत्र के लोग कृषि पर ही निर्भर रहते है , एक वर्ष में कई तरह के फसल पैदावार करते है और उनके जीवन में अनाज की कोई कमी नही होती है

 कृषि से महत्वपूर्ण फायदेमंद 

किसी करने से वातावरण में बिलकुल शीतल हो जाता है,प्रदुषित हवा को भी ग्रहण करता है ओर उसे स्वच्छ हवा बनाकर निकाल देता है मनुष्य के लिए लाभदायक होता है किसी प्रकार का कोई बिमारी पैदा नही होता है अगर माना जाये तो सही प्रकार का जीवन जीने के लिए प्राकृतिक जगहों पर रहना सही माना जाता है क्योंकि खेतों से निकलती हुई हवाओ हमेशा स्वच्छ होता है काफी गाँवों आज भी वही वातावरण है जिसके कारण अधिक वन पायें जाते है भारत की सुन्दरता गाँव की हरियाली से ही पता चलता है भारत भी कृषि प्रधान देश है यहाँ तरह के फसल उगाये जाते है हर प्रकार की खेती भी होता है समय-समय पर बौई तथा कटाई भी किया जाता है भारत के अलग-अलग राज्यों अलग-अलग फसल का महत्व दिया जाता है जैसे बिहार,असम,झारखंड,उत्तरप्रदेश,मध्यप्रदेश,छतीसगढ़,इन जगहो पर चावल की खेती अधिक होता है इसलिए लिए भारत के अलग-अलग राज्यों प्रत्येक फसल का महत्व दिया गया है

रचयिता:रामअवध


0 Comments