future

नर कोरोना से बच रहा है,जग कोरोना रणभूमि में लड़ रहा है

*कविता*नर कोरोना से बच रहा है,जग कोरोना रणभूमि में लड़ रहा है*

हम सब देश की बात मानेगें
कोरोना को जड़ से हटायेगें
विपत्ति से मुक्त होकर दिखायेगे
कोरोना से दूर रहकर दिखायेगें
सभी को इसका सुझाव बतायेगें

संकट का दिन ला दिया ये
कोरोना बनकर आ गया ये
तेजी से फैलकर आ गया ये
जग को हिलाकर रख दिया ये

देश आज बन्द हुआ
कोरोना से नर तंग हुआ

सात से नौ बजे दिख ना पायेगें
साहस की बात रख  कर जायेगें
कोरोना से दूर होकर दिखायेगें
फैले ना ऐसा कुछ करक दिखायेगें

कैसा? वायरस आया ये
देश सूना करके गया ये
संकट का दिन ला दिया ये
कोरोना बनकर आ गया ये

सह जायेगें,विपत्ति से
लड़ जायेंगे,कोरोना से
नष्ट कर देगे, कोरोना को
बचा जायेंगे,इस संसार को

रचयिता:रामअवध
























Post a Comment

0 Comments