future

सभी के जीवन में क्या-क्या दिया होगा तुमने?

*कविता*सभी के जीवन क्या-क्या दिया होगा तुमने?

सोचो संसार किसने बनाया होगा?
उतना ही प्यार से उसने सजाया होगा
धराधर पर गुल उसने खिलाया होगा
रंगों का गुलशन उसने सजाया होगा
जगत ऐसा उसने बनाया होगा

कैसा?समीर बनकर आया  होगा
मनुज में चैतन्य उसने जागाया होगा
परमात्मा तुमें हमने पुकारा होगा
सुन्दरता तुमने हमको दिखाया होगा

ऋतु की शरद बनकर आते हो
पवन की तरंग बनकर उड़ जाते हो
श्रावण बनकर बरस जाते हो
मौसम की छाया बनकर आ जाते हो

गगन में परिंदो को लहरा देते हो
जीवन में उसका बहार कर देते हो
तरंगिणी बनकर अमृत बन जाते हो
प्राणी में तृषा बुझा कर चले जाते हो

कैसा जीवन चक्र बनाया होगा तुमने?
क्या पवित्र इक़रार बनाया होगा तुमने?
मोहिनी स्वरूप सजाया होगा तुमने
कुदरत का प्यार बताया होगा तुमने

रचयिता:रामअवध


Post a Comment

0 Comments